,

Naughty Double Meaning NON-VEG Jokes for WhatsApp and Facebook IN HINDI

AS WE HAVE PROMISED YOU - HERE is the   HINDI version of these adult jokes, Just relax and keep scowling don until you have stomach pain and you ll be force to send these Message to your close friends you can share with your friends and to comment if you want more. 

101 Funny and Hilarious Whats App & Facebook Status Updates



  • दो बूढ़े शराब के नशे में टुन्न होकर एक कोठे पर सेक्स करने गए।
    कोई भी लड़की बूढ़ों से सेक्स के लिए नहीं मानी तो दलाल ने दो रबर की गुड़िया में हवा भर के बूढ़ों को दे दी और बोला, "लड़कियां नशे में हैं। अपना-अपना काम कर लो।"
    जब सुबह दोनों कोठे से बाहर निकले तो आपस में बातें कर रहे थे।
    पहला बूढा: यार लड़की नशे में नहीं थी, साली लाश थी। सारी रात खुद ही हिल-हिल कर करना पड़ा।
    दूसरा बूढा रोते हुए बोला, "मुझे तो सालों ने भूतनी दे दी। मैंने जोश-जोश में उसकी चूची काट ली तो सूं की आवाज़ के साथ तेज़ हवा आई और लड़की उड़ के खिड़की के बाहर चली गयी। सारी रात मेरी डर के मारे गांड फटी रही।"
  • एक बार पठान का समंदर में सफर कर था कि समंदर में आये एक भयानक तूफ़ान के कारण उसका जहाज़ टूट गया और वो एक टापू पर पहुँच गया। टापू पर पहुँचने पर उसने देखा कि टापू पर एक भेड़ और एक कुत्ता भी थे। तीनो की आपस में गहरी दोस्ती हो गयी।
    तीनो अपना ज्यादा समय इकठे ही बिताते। शाम को सूर्यास्त का नज़ारा देखते। एक दिन सूर्यास्त के समय पठान का मन सेक्स करने का हो गया लेकिन उसे वहां कोई ना दिखा तो उसने भेड़ को अपनी बाहों में ले लिया।
    यह देख कुत्ता चौकना हो गया। उसने जल्दी से भेड़ को पठान से छुड़वाया और पठान पर भौंकने लगा। पठान समझ गया कि कुत्ता भेड़ को बचाना चाहता है।
    फिर उसके बाद वो रोज़ घूमने जाते पर पठान भेड़ से दूर ही रहने लगा।
    अचानक एक दिन वहाँ एक और तूफ़ान आया जिसमे एक बेहद खूबसूरत लड़की उस टापू पर पहुँच गयी। जिसे देख पठान बहुत ही खुश हुआ पर तूफ़ान की वजह से लड़की की हालत बहुत खराब थी। पठान ने उसकी खूब सेवा की और उसे दिनों में ही तंदरुस्त कर दिया।
    जब लड़की ठीक हुई तो वो पठान से बहुत खुश हुई और उससे बोली, "मैं तुमसे बहुत खुश हूँ, तुमने मुझे नया जीवन दिया है। तुम जो चाहो मैं तुम्हारे लिए वो कर सकती हूँ।"
    पठान यह सुन बहुत खुश हुआ और लड़की को अपनी बाहों में लेकर उसके कान में फुसफुसाया, "क्या तुम इस कुत्ते को थोड़ी देर के लिए घुमाने ले जा सकती हो?"
  • एक बार सिंधी की बीवी अपने घर पर नहा रही थी तो पठान ने चुपके से उसे देख लिया।
    अगले दिन सिंधी जब पठान से मिला तो पठान बोला, "मैंने कल तुम्हारी बेगम को नहाते हुए देखा।"
    सिंधी को यह सुन बहुत गुस्सा आया और उसने भी बदला लेने की ठान ली।
    शाम को सिंधी ने देखा कि पठान के कमरे के परदे उठे हुए हैं और कमरे में सेक्स हो रहा था।
    अगले दिन सिंधी पठान से बोला, "तुमने तो मेरी बीवी को नहाते हुए देखा था ना, मैंने तो कल तुम दोनों को सेक्स करते देखा।"
    पठान हँसते हँसते बोला, "चल साले झूठे, कल रात को तो मैं घर पर ही नहीं था।"
  • एक बार जंगल में एक गधे का सेक्स करने बड़ा का मन करता है तो वो गधी के पास जाता है। गधी उसे यह कह कर मना कर देती है कि तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है और बहुत दर्द होती है। गधा उसे बहुत मनाने की कोशिश करता है, आखिरकार गधी मान जाती है पर कहती है कि जा कर कोई गारंटी ले कर आओ कि तुम अपना पूरा लंड अंदर नहीं डालोगे।
    गधा गारंटी के लिए जंगल में दूसरे जानवरों के पास जाता है लेकिन कोई भी जानवर उसकी गारंटी देने को तैयार नहीं होता। आखिर में एक मेंढक को रहम आ जाता है वो गारंटी के लिए तैयार हो जाता है। मेंढक गधे से कहता है, "मैं तेरे लंड पे एक निशान लगा दूंगा तुम उससे आगे नहीं जाना। जब भी निशान से आगे जाओगे तो मैं सीटी बजा दूंगा तो तुम लंड को बाहर निकाल लेना।
    गधा तैयार हो जाता है। दोनों गधी के पास जाते हैं।
    गधा सैक़स करना शुरू करता है। जब भी गधे का लंड निशान से जयादा अंदर जाता मेंढक सीटी बजा देता और गधा वापस लंड बाहर निकाल लेता। जैसे-जैसे समय बीतता गया, गधे का बार-बार निशान से अंदर को जाने लगता है तो मेंढक सीटी बजाने लगता। जब गधा पूरे जोश में आ गया तो उसे मेंढक की सीटी भी नहीं सुनी तो मेंढक छलांग लगा कर गधे के लंड पर बैठ गया पर गधा कहाँ रुकने वाला था। उसने लगाया अपना फाइनल शॉट तो मेंढक ही गधी की गांड में घुस गया।
    यह सब पेड़ पर बैठा एक बंदर देख रहा था। वो जोर ज़ोर से ताली बजा कर बोलने लगा, "गई गारंटी गांड में।" "गई गारंटी गांड में।"
  • एक डॉक्टर पठान के पीछे ब्लेड लेकर भाग रहा था और चिल्ला रहा था, "ठहर जा बहन के लोड़े, तेरी माँ चोद दूंगा, रूक साले कमीने, एक बार हाथ लग जा तेरे को जान से मार दूँगा।"
    यह सुन कर कुछ लोगो ने डॉक्टर को पकड़ा और पूछा, "भाई साहब हुआ क्या है, क्यों उसको मारने पर तुले हो?"
    डॉक्टर गुस्से से बोला, "ये साला भोसड़ी का हरामी, पिछली 4 बार से ऐसा ही कर रहा है, नसबंदी करवाने आता है और झाँटे कटवा कर भाग जाता है।
  • एक पेड़ पे एक चिड़ा और एक चिड़िया रहती थी। दोनों आपस में बहुत प्यार करते थे।
    एक दिन चिड़िया बोली, "तुम मुझे छोड़ कर कभी उड़ तो नहीं जाओगे?"
    चिड़ा बोला, "अगर उड़ जाऊं तो तुम पकड़ लेना।"
    चिड़िया: मैं तुम्हें पकड़ तो सकती हूँ, पर फिर पा तो नहीं सकती।
    यह सुन चिड़े की आँखों में आंसू आ गए और उसने अपने पंख तोड़ दिए और बोला, "अब हम हमेशा साथ रहेंगे।"
    लेकिन एक दिन बहुत ही भयंकर तूफान आ गया। चिड़े ने चिड़िया से कहा, "तुम उड़ जाओ मैं नहीं उड़ सकता।"
    चिड़िया: अच्छा अपना ख्याल रखना।
    इतना कहकर चिड़िया उड़ गई। जब तूफान थमा तो चिड़िया वापस गयी। वापस आने पर उसने देखा कि चिड़ा मर चुका था और वहीँ पास की एक डाली पर लिखा था,
    "बहन की लौड़ी"
  • फौजी तीन साल बाद जंग से वापस घर आया। खिड़की के पास उदास बेठा था। बीवी 3 साल से सेक्स की भूखी थी, दुपट्टा गिरा कर बोली, "देखो हवा ने मेरा क्या उडा दिया।"
    फौजी चुप्प।
    फिर बीवी ने कुर्ती निकाली और बोली, "देखो हवा ने मेरा क्या उड़ा दिया।"
    फौजी फिर चुप।
    बीवी ने फिर सलवार और पेंटी उतारी और बोली, "देखो हवा ने मेरा क्या उड़ा दिया।"
    फौजी को गुस्सा आ गया। उसने अपनी पेंट उतारी और बोला, "देखो बम्ब ने मेरा क्या उड़ा दिया।"
    अब...बीवी चुप्प।
  • सिंधी के घर के बाहर पठान ने आवाज लगाई।
    अंदर से सिंधी सिर्फ तौलिया लपेटे बाहर आया और हाथ जोडकर बोला, "बाबा 5 साल से आप मैरे घर भिक्षा मांगने आ रहे हैं और मैंने बिना कुछ दिये आपको कभी नही लौटाया, पर आज मेरे पास कुछ नही है। रात को डाकू आये और मेरे जीवन भर की कमाई ले गये। यहाँ तक कि बदन पे कपडे भी नही छोडे। अब मैं नंगा आपको क्या दूँ और खुद क्या खाऊँ?"
    यह कहते हुए सिंधी रोने लगा।
    यह देख पठान की आँख मे भी आँसू आ गये। पठान ने सिंधी के सिर पर हाथ रखा और बोला, "रो मत बेटा, सब ऊपर वाले की मर्जी है। पगले अब दुख मत कर नंगा है तो क्या हुआ? चल अंदर आज गांड ही दे दे।"
  • एक गाँव में एक चौधरी के बेटे छेदामल की बड़ी मुश्किल से 40 वर्ष की आयु में 20 वर्ष की लड़की से शादी हो गयी। शादी के बाद छेदामल जी दुल्हन को घर ले आये किन्तु दुल्हन छेदामल के बारे में कुछ भी नहीं जानती थी यहाँ तक की नाम भी नहीं और अगले दिन दुल्हन घूंघट लटकाए शरमाई हुई बैठी थी और मुंह दिखाई की रस्म शुरू हुई।
    एक बुजुर्ग औरत आई, घूंघट उठाया और बोली, "बहु तो ठेर सोहनी है पर छेदा बड़ा हैं।"
    दुल्हन चौंकी, सकुचायी पर चुप रही।
    दूसरी औरत आई, घूंघट उठाया और बोली, "बहु तो सोहनी है पर छेदा बड़ा हैं।"
    दुल्हन फिर चौंकी, सकुचायी पर चुप रही।
    तीसरी औरत आई, घूंघट उठाया और बोली, "बहु तो चोखी है पर छेदा बड़ा हैं।"
    दुल्हन गुस्सायी और "हूं हूं हूं"।
    चौथी औरत आई, घूंघट उठाया और बोली, "बहु तो चाँद का टुकड़ा है पर छेदा बड़ा हैं।"
    दुल्हन गुस्सायी और "हूं हूं हूं हूं हूं हूं।"
    पांचवीं औरत आई, घूंघट उठाया और बोली, "बहु तो बढ़िया है पर छेदा बड़ा हैं।"
    दुल्हन ने घूंघट उतार कर पीछे फेंका और जोर से गुर्रायी, "छेदा बड़ा है, छेदा बड़ा है, छेदा बड़ा है।"
    दुल्हन ने अपना लहंगा सिर तक ऊपर उठाया और बोली, "गौर से देख लो अभी तो सील भी नहीं टूटी।
  • एक बार संता को कहीं जाना था। दरवाजा खोला तो देखा हल्की बारिश हो रही है। जाना पैदल है और बारिश बढ़ भी सकती है।
    सोचने लगा कि क्या करूँ फिर ख्याल आया कि,"पास के मिश्रा जी के घर से छाता ले लूँगा।"
    छाता लेने के लिए उनके घर की ओर चल पड़ा तो रास्ते में सोचने लगा कि,"हो सकता है मिश्रा जी घर पर न हों कोई बात नहीं भाभी जी तो इस समय घर पे ही होंगी। वैसे अच्छी औरत है पर क्या भरोसा मना कर दे।"
    अरे नहीं सात बज रहे हैं मिश्रा जी अभी घर पे ही होंगे। आदमी सही है पर मूड का कुछ कह नहीं सकते खुश है तो खुश नहीं तो फिर बस।
    अरे पर मैंने क्या करना है उसके मूड का एक छाता ही तो मांग रहा हूँ कोई जायदाद थोड़ी न मांग ली।
    वैसे भी मना नहीं करेंगे।
    कितनी बार मेरा स्कूटर मांग के ले गए हैं मैंने तो कभी मना नहीं किया, पर इंसान का क्या पता मना ना करे कोई बहाना ही बना दे।
    एक छाते के लिए बहानेबाजी,छि!! इंसान अपना वक़्त कितनी जल्दी भूल जाता है।
    ये तो अच्छी बात नहीं है। मैं भी चुप रहने वाला नहीं हूँ। होगा मिश्रा अपने घर का साला एहसान फरामोश।
    गुस्से में संता ने मुठियाँ भींच ली।
    छाता न हुआ कोई बड़ी चीज़ हो गयी। मुझे क्या चुतिया समझा है बहनचोद, नहीं देना है तो न दे। पर ये न सोच लेना की कोई हम गिरे हुए है। एक छाता नहीं खरीद सकते।
    सोचते-सोचते मिश्रा जी का घर आ गया।
    संता ने दरवाज़ा खटखटाया।
    मिश्रा जी लुंगी पहने हुए बाहर निकले, "अरे आईये आईये संता जी!"
    संता गुस्से से एकदम लाल सामने आया घुमा के मिश्रा जी के नाक पे एक घूंसा जमाया और बोला, "गांड में डाल ले अपना छाता। बहनचोद!"
  • एक युवा जोड़ा खेतों में बनी पगडंडी पर चल रहा थे थोड़ा आगे चलकर रास्ता काफी खुला था तो साथ-साथ में चल पड़े।
    लड़की ने लड़के की तरफ देखा और कहा, "क्या तुम मेरा हाथ पकड़ना चाहते हो?"
    लड़के ने कहा, "पर तुम्हें कैसे पता चला?"
    लड़की ने कहा, "तुम्हारी आँखों में देखकर।"
    लड़के ने लड़की का हाथ पकड़ा और दोनों आगे चल पड़े।
    थोड़ा चलने के बाद लड़की ने लड़के से पूछा, "क्या तुम्हारा किस करने का मन कर रहा है?"
    लड़के ने फिर से पूछा, "तुम्हें कैसे पता चला?"
    लड़की ने कहा, "तुम्हारी आँखों में देखकर।"
    जैसे ही वे दोनों थोड़ा आगे गए वहां काफी लम्बी घास थी वे दोनों बैठ गए लड़के ने लड़की को किस किया।
    फिर वे और आगे चल पड़े, आगे चलकर लड़की ने लड़के से पूछा, "क्या तुम्हारा मेरे साथ सब कुछ करने का मन कर रहा है।"
    लड़के ने कहा, "तुम्हें कैसे पता चला मेरी आँखों में देखकर न?"
    लड़की ने कहा,"नही भोंसड़ी के तेरे पजामे में बने तम्बू को देखकर।"
  • एक बार एक जंगल में 3 दोस्त घूमने गए हुए थे। अचानक उन पर आदिवासियों के एक कबीले ने हमला कर दिया और वह उनको उठा कर अपने कबीले के मुखिया के पास ले आये।
    मुखिया: अगर तुम तीनों एक ही किस्म के 10 फल ढूंढ कर लाओगे तो तुम्हारी जान बख्शी जा सकती है।"
    थोड़ी देर बाद पहला आदमी 10 सेब लेकर लौट आया।
    कबीले के मुखिया ने उसे कहा, "अगर तुम यह 10 के 10 सेब अपने चेहरे पर बिना कोई अभिव्यक्ति बनाये अपनी गांड में ले लोगे तो तुम्हें छोड़ दिया जायेगा।
    आदमी ने बड़ी मुश्किल से पहला सेब अपनी गांड में लिया पर जैसे ही उसने दूसरा सेब गांड में लेने की कोशिश की तो उसके चेहरे के हाव-भाव बदल गए। और उसे तुरंत मार दिया गया।
    थोड़ी देर बाद दूसरा आदमी 10 अंगूर लेकर आ गया।
    मुखिया ने उसे भी वैसा ही करने के लिया कहा।
    आदमी ने जल्दी से 9 अंगूर अपनी गांड में ले लिए पर जैसे ही आखिरी अंगूर गांड में लेने लगा तो ज़ोर-ज़ोर से हंसने लगा और मुखिया ने उसे भी मरवा दिया।
    मरने के बाद जब दोनों आदमी स्वर्ग में मिले तो पहले आदमी ने दुसरे से पूछा, "तुमने तो 9 अंगूर गांड में ले लिए थे सिर्फ एक ही बचा था फिर तुमने हंसना क्यों शुरू कर दिया था?"
    दूसरे आदमी ने अब भी हँसते-हँसते जवाब दिया, "मैं अपने आप को रोक ही नहीं पाया, दरअसल मैंने तीसरे आदमी को खरबूजे लाते हुए देखा था।"
  • एक बार एक राजा ने अपनी बेटी की शादी के लिए राज्य में घोषणा करवा दी। पर राजा चाहता था कि उसकी बेटी की शादी किसी शरीफ नौजवान से हो।
    इसलिए जब भी कोई लड़का राजा की बेटी को देखने आता तो राजा अपनी बेटी के गुप्तांगो पर हर रंग लगवा देता और लड़के को रात में अपनी बेटी के कमरे में ही सुला देता।
    सुबह जब राजा यह देखता कि लड़के के गुप्तांगो पर भी हरा रंग लगा हुआ होता तो वो लड़के का सिर कलम करवा देता।
    ऐसे कई लड़के आये पर राजा को कोई सुयोग्य वर नहीं मिला।
    अंत में एक दिन एक लड़का राजा की बेटी को देखने आया तो राजा ने वैसे ही हरा रंग अपनी बेटी के गुप्तांगो पर लगवा दिया और लड़के को उसके कमरे में सुला दिया।
    अगले दिन सुबह जब राजा ने लड़के के गुप्तांग देखे तो खुश हो गया और लड़के के लिए मिठाई मंगवाई। लड़के ने मिठाई खाने के लिए मुंह खोला तो राजा लड़के की हरी जीभ देख कर बेहोश हो गया।
  • एक बार संता को एक चिराग मिला। संता ने जब उस चिराग को रगड़ा तो अंदर से एक जिन प्रकट हो गया।संता: तुम मेरी 100 माँगे पूरी कर दो।जिन: माफ़ करना, पर मैं सिर्फ 3 माँगे ही पूरी कर सकता हूँ।संता: पर इस समय तुम मेरे ग़ुलाम हो तो तुम्हें मेरी 100 माँगे पूरी करनी होगी।जिन को संता की यह बात सुन कर गुस्सा आ गया और बोला, "मैं सिर्फ 3 माँगे पूरी करूँगा। अगर मंज़ूर है तो ठीक नहीं तो मैं चला।"संता ने कुछ सोचा और कहा, "ठीक है। मेरी सबसे पहली माँग यह है कि तुम अपने हाथ में एक डंडा ले लो।"जिन ने हवा में हाथ घुमाया और हाथ में डंडा पकड़ लिया।संता: अब यह डंडा अपनी गांड में ले लो।जिन ने यह सुनकर थोड़ा घबरा गया पर उसने फिर वो डंडा अपनी गांड में ले लिया।संता: अब साले बता इस डंडे को बड़ा करने की मांग पूरी करेगा या मेरी 100 माँगे पूरी करेगा?" जिन: कहो मेरे आका, तुम क्या चाहते हो?
    संता: तुम मेरी 100 माँगे पूरी कर दो।
    जिन: माफ़ करना, पर मैं सिर्फ 3 माँगे ही पूरी कर सकता हूँ।
    संता: पर इस समय तुम मेरे ग़ुलाम हो तो तुम्हें मेरी 100 माँगे पूरी करनी होगी।
    जिन को संता की यह बात सुन कर गुस्सा आ गया और बोला, "मैं सिर्फ 3 माँगे पूरी करूँगा। अगर मंज़ूर है तो ठीक नहीं तो मैं चला।"
    संता ने कुछ सोचा और कहा, "ठीक है। मेरी सबसे पहली माँग यह है कि तुम अपने हाथ में एक डंडा ले लो।"
    जिन ने हवा में हाथ घुमाया और हाथ में डंडा पकड़ लिया।
    संता: अब यह डंडा अपनी गांड में ले लो।
    जिन ने यह सुनकर थोड़ा घबरा गया पर उसने फिर वो डंडा अपनी गांड में ले लिया।
    संता: अब साले बता इस डंडे को बड़ा करने की मांग पूरी करेगा या मेरी 100 माँगे पूरी करेगा?"
  • एक बार एक लड़का कोठे पर गया। उसके हाथ में एक मरा हुआ मेंढक था। कोठे पर पहुँचकर वह बोला, "मुझे ऐसी लड़की चाहिए जिसे बीमारी लगी हो।"
    कोठे वाली ने पहले तो उसे हैरानी से देखा फिर उसे एक लड़की के साथ भेज दिया।
    थोड़ी देर बाद जब लड़का अपना काम खत्म करके बाहर आया तो लड़की ने उसे पूछा, "तुम मेरे साथ ही क्यों जाना चाहते थे। जबकि मुझे तो बीमारी है।"
    लड़का बोला, "जब मैं घर जाऊंगा तो मेरे माता-पिता मुझे मेरी आया के साथ छोड़ कर बाहर चले जायेंगे। मैं उनके जाने के बाद अपनी आया के साथ सेक्स करूँगा। जब मेरे माता-पिता वापिस आएंगे तो मेरे पापा मेरी आया को घर छोड़ने जायेंगे और रास्ते में वो मेरी आया के साथ सेक्स करेंगे। रात को मेरे माता-पिता आपस में सेक्स करेंगे। कल जब पापा ऑफिस जायेंगे तो माँ ड्राइवर के साथ सेक्स करेगी और यह बीमारी उसे लग जाएगी। क्योंकि उस साले ने ही मेरे मेंढक को गाड़ी के नीचे कुचला है।
  • दो नवाब जिन्हें शायरी का बहुत शौंक था ट्रेन में सफर कर रहे थे। सफर लंबा था तो दोनों ने सोचा कि चलो एक-दूसरे को शायरी सुनाते हैं।
    पहला नवाब: लो जी एक शेयर अर्ज़ है, "मियां मकबूल, आपकी गांड में गोभी का फूल।"
    इससे पहले कि वो अगली लाइन पढता दूसरा नवाब बोला, "वाह, वाह बहुत खूब शेयर था। अब मेरा सुनो, "मियां मकबूल, आपकी गांड में जामुन का पेड़।"
    पहला नवाब: जनाब यह कुछ जमा नहीं।
    दूसरा नवाब: भोसड़ी के अगर जामुन का पेड़ जम जाता तो तेरी गांड न फट जाती।
  • एक अस्सी साल का बुजुर्ग चेक-अप के लिए डॉक्टर के पास गया तो डॉक्टर ने उसे कहा कि आपका स्पर्म यानि वीर्य भी जाँचना होगा। इसलिए डॉक्टर ने उसे एक बोतल दी और कहा कि कल अपना वीर्य इसमें लेकर आना।
    बुजुर्ग अगले दिन डॉक्टर के पास आया और उसने बोतल डॉक्टर को दी पर बोतल बिल्कुल खाली और साफ़ थी।
    डॉक्टर: क्या हुआ?
    बुजुर्ग: डॉक्टर साहब हुआ ऐसा कि पहले तो मैंने अपने दायें हाथ से कोशिश की पर कोई फायदा नहीं हुआ, फिर मैंने अपने बांये हाथ से कोशिश की तब भी कोई फायदा नहीं हुआ। फिर मैंने अपनी बीवी से मदद मांगी, उसने भी पहले दायें हाथ से फिर बांये हाथ से कोशिश की पर नाकाम रही। यहाँ तक कि उसने तो मुँह से भी कोशिश की पर तब भी नाकाम रही। हमने अपनी पड़ोसन को भी बुलाया। उसने भी पहले अपने दोनों हाथों से, फिर मुँह से कोशिश की पर कोई फायदा नहीं हुआ।
    डॉक्टर: क्या आपने अपनी पड़ोसन से भी करवाया?
    v बुजुर्ग: हाँ, पर फिर भी यह बोतल नहीं खुली।
  • पप्पू और उसकी गर्लफ्रेंड गाड़ी में बैठे बातें कर रहे थे। बातें करते-करते पप्पू थोड़ा रोमांटिक हो गया पर गर्लफ्रेंड का रोमांस का कोई इरादा नहीं था तो पप्पू ने कहा, "चलो तुम अपने हाथ से मुझे खुश कर दो।"
    गर्लफ्रेंड: हाथ से कैसे, क्या करना होगा मुझे?
    पप्पू: याद है बचपन में जैसे सोडा की बोतल को हिलाते थे और बाद में उसे एक दूसरे पर स्प्रे करते थे। बस वैसे ही करना है।
    गर्लफ्रेंड: ठीक है।
    पप्पू ने अपना लंड निकाला और अपनी गर्लफ्रेंड के हाथ में दे दिया। गर्लफ्रेंड ने उसे हाथ में पकड़ा और हिलाना शुरू कर दिया। दो मिनट बाद पप्पू की आँखों में आँसू निकल आये, पूरा बदन पसीने से लथपथ हो गया।
    गर्लफ्रेंड: क्या हुआ? तुम रो क्यों रहे हो?
    पप्पू(चिल्लाते हुए): साली अपना अंगूठा हटा ऊपर से।